पाकिस्तान का बलूचिस्तान प्रांत हैजा (कालरा) के प्रकोप की चपेट में आ गया है। इससे प्रदेश में चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई है। अस्पतालों में मरीजों के लिए खाली बिस्तर नहीं है। हैजा से चार लोगों की मौत हो चुकी है।

Loading...

पाकिस्तान में साफ पानी के अभाव में हैजा फैल रहा है। स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 17 अप्रैल को सूबे में हैजा का पहला मामला सामने आया था। अब तक 1500 से ज्यादा लोग इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। बुधवार को 123 नए मामले सामने आए। प्रदेश में दवाओं की किल्लत को लेकर स्वास्थ्य अधिकारियों ने चिंता व्यक्त की है।

Hindi News

जलवायु परिवर्तन और सूखे जैसे कारणों का हवाला देते हुए, संयुक्त राष्ट्र के एक प्रतिनिधि ने आशंका व्यक्त की है कि अगर यह स्थिति जारी रही, तो पाकिस्तान दुनिया के शीर्ष दस देशों की सूची में आ सकता है जो पानी की कमी का सामना कर रहे हैं। आपको बता दें कि इस समय पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति काफी खराब है। ऐसे में कोरोना महामारी के बीच हैजा का प्रकोप पाकिस्तान के सामने एक बड़ी समस्या खड़ी कर सकता है.

See also  परेशान श्रीलंका को फिर मिला भारत का साथ, मोदी सरकार ने दी 65,000 मीट्रिक टन यूरिया देने की मंजूरी