राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से गर्मी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. बुधवार से धूप की तपिश ने लोगों को परेशान कर रखा है। गर्मी के साथ उमस भी लोगों की परेशानी बढ़ा रही है। अब शुक्रवार से राजधानी लू की चपेट में आ सकती है. लू का यह सिलसिला रविवार तक जारी रहेगा। सोमवार से पश्चिमी विक्षोभ के चलते राजधानी का तापमान फिर से थोड़ा कम रहेगा। हरियाणा, राजस्थान समेत कई राज्यों में भीषण गर्मी का कहर जारी है. वहीं, यूपी, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ में तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. हालांकि, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश आदि जैसे कई राज्य हैं, जहां चक्रवाती तूफान आसनी के कारण भारी बारिश होगी। स्काईमेट वेदर के अनुसार, गुरुवार को गुजरात और राजस्थान, विदर्भ, मराठवाड़ा, उत्तरी मध्य महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और दक्षिण हरियाणा के अलग-अलग हिस्सों में लू चलने की संभावना है।

weather

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, अगले पांच दिनों तक उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में भीषण गर्मी पड़ेगी। इस दौरान लू लोगों को परेशान भी करेगा। मौसम विज्ञानियों ने कहा कि पूर्वी भारत में अधिकतम तापमान में वृद्धि की संभावना कम है, लेकिन उसके बाद पारा दो से चार डिग्री तक बढ़ सकता है। वहीं, राजस्थान में पारा 44 से 46 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। मध्य प्रदेश में भी कुछ ऐसा ही हाल है। यहां 15 मई तक लू चलने की संभावना है। इसके अलावा 12 से 15 मई तक हरियाणा, दिल्ली और पंजाब में भीषण गर्मी पड़ने की संभावना है।

 मौसम विभाग के मुताबिक आज आसमान साफ ​​रहेगा। धूप बहुत तेज होगी। अधिकतम तापमान 43 और न्यूनतम तापमान 29 डिग्री तक रह सकता है। इसके बाद 13 से 15 मई तक लू का प्रकोप रहेगा। इस दौरान पारा 44 डिग्री के आसपास रह सकता है। इसके बाद 16 मई से पश्चिमी विक्षोभ का असर राजधानी पर रहेगा। इस वजह से बादल छाए रहेंगे। तापमान में करीब एक से दो डिग्री की गिरावट आ सकती है। 17 मई तक तापमान 41 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है।

See also  Weather Update: Cold wave in Rajasthan till the end of November, Rain for Two Days in two Divisions

उत्तर प्रदेश में बूंदाबांदी से गर्मी से कुछ राहत मिली है. राज्य के पूर्वी जिलों में भी हल्की से मध्यम बारिश हुई। राज्य के कुछ जिलों में तेज हवाएं चलीं। पूर्वी उत्तर प्रदेश में सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, कुशीनगर, गोंडा, बस्ती और गोरखपुर के आसपास के इलाकों में 13 मई तक बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 14 और 15 मई को लू की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान धीरे-धीरे कमजोर होता जा रहा है। राज्य के चारों ओर मध्यम पश्चिमी विक्षोभ और प्रचंड हवाओं का असर देखा जा रहा है। मौसम विभाग ने 14 और 15 मई को छोड़कर पूर्वी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में 17 मई तक हल्की बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना जताई है।

चक्रवाती तूफान आसनी का असर ओडिशा-आंध्र प्रदेश में दिखाई दे रहा है। बारिश के साथ तेज हवाएं भी चल रही हैं। स्काईमेट वेदर के मुताबिक, गुरुवार को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में कुछ जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश और अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश की संभावना है। तटीय ओडिशा, पश्चिम बंगाल, पूर्वोत्तर भारत, केरल के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक, सिक्किम और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। बिहार, झारखंड, आंतरिक ओडिशा, दक्षिण छत्तीसगढ़, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, कोंकण और गोवा, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की बारिश संभव है।